Thursday, January 13, 2011

लोग कहते थे की मैं गिर जायूँगा...

लोग कहते थे की मैं गिर जायूँगा 
मगर मुझे तेरे गम से संभाल रखा हैं...
आइना टूटा हैं मगर
सोने में जड़ा रखा हैं...
*
फिर कही मुलाक़ात होगी तेरी-मेरी
इसी हसरत को दिल में जगा रखा हैं...
*
ढूँढ़ पाए न कोई तेरी तस्वीर को
इसलिए मैंने इसे अपने दिल में छुपा रखा हैं...
*
तेरी आँखों में आंसू देखू तोह भीड़ जायूं मैं खुदा से भी बच्चे की तरह  - २
तू खुश रहे हमेशा
बस यही खुदा से अरमान रखा हैं...
[written by romil - copyright reserved]
Post a Comment